चिकनगुनिया के दर्द का कैसे करें उपचार ?

चिकनगुनिया एक भयानक बुखार है। इस का सबसे बुरा प्रभाव इसके ठीक हो जाने के उपरांत होता है तथा वह है जोड़ों में दर्द। यह दर्द इतना भयानक होता है, जैसे कि लगता है आपके जोड़ अभी टूट जाएंगे। इसलिए आज हम आपको एक ऐसे घरेलू उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसको करने से आप इस दर्द को सही कर सकते हैं। इस उपाय में हम एक ऐसा तेल तैयार करेंगे, जो हर प्रकार के दर्द को ख़त्म करने की क्षमता रखता है।

चलिए जानते हैं इस उपाय के बारे में !!

आवश्यक सामग्री:-

  • एलोवेरा जैल – 1 बड़ा चम्मच 
  • कपूर – 2 बड़े टुकड़े 
  • हल्दी – 1 छोटा चम्मच 
  • पिसा हुआ अदरक – 1 छोटा टुकडा 
  • मेथी दाना – 1 बड़ा चम्मच 
  • अजवायन – 2 बड़ा चम्मच 
  • दालचीनी – 1 टुकडा
  • लौंग – 15 
  • सफेद तिल का तेल – 50 ग्राम
  • सरसों का तेल – 50 ग्राम

बनाने की विधि:-

  • सर्व प्रथम कढ़ाई मे सफेद तिल के तेल तथा सरसों के तेल को डालकर तेज़ आंच पर गर्म करें।
  • इसके बाद आंच को धीमी करके कपूर तथा हल्दी को अतिरिक्त बाकि सारी समाग्री को इसमें डाल दें।
  • इसे तब तक चलने दें, जब तक सारी सामग्री जल न जाए तथा उनका सत तेल में ना आ जाए।
  • इन्हें जलने मे करीब 20 से 25 मिनट का समय लगेगा।
  • जब यह भून जाएगें, तब तेल का रंग गहरा हो जाएगा।
  • फिर गैस बंद कर दें तथा इसमें कपूर व हल्दी मिला दें।
  • कपूर के घुल ना जाने तक तेल को ठण्डा होने दें।
  • फिर तेल को छानकर एक शीशी मे भरकर रख लें।

प्रयोग करने की विधि:-

  • कैसा भी बुरा दर्द हो इससे मालिश से गायब हो जाएगा।
  • चिकनगुनिया में पैरो तथा जोड़ों में दर्द अधिक होता है।
  • यह तेल 100% फायदेमंद है। इसे लगाते ही आराम आना शुरू हो जाएगा पहले दिन से।
  • दिन मे 3 बार मालिश करें।
  • कृप्या जब तक बहुत अधिक ज़रूरत ना हो कोई भी पेन किलर ना खाऐ तबियत खराब हो जाएगी।

डॉक्टर से दवाई मंगवाने के लिए 94647 80812 नंबर पर कॉल करें।