वैवाहिक जीवन को सुखी बनाए रखने के लिए असरदार उपाय !!

आज हम आपको सहजन के सूप के बारे में बताने जा रहे हैं। वैवाहिक जीवन का एक बड़ा बिंदु शारीरिक संबंधों पर आधारित होता है। और अगर यह सही से ना हो पाएं तो वैवाहिक जीवन नष्ट हो जाता है। यह सूप आपके वैवाहिक जीवन को खुशियों से भरने में भी सक्षम है। सहजन का प्रयोग कई प्रकार के रोगों के उपचार के लिए किया जाता है। गले की खराश, सर्दी-खांसी तथा छाती में बलगम जम जाने पर सहजन का प्रयोग करना बहुत लाभदायक होता है। यदि आप चाहें तो सहजन का प्रयोग सब्ज़ी बनाकर अथवा उबाल कर भी कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त इसे पानी में अच्छे से उबाल कर इस पानी को पीना भी लाभकारी रहता है। यदि आपको सांस लेने में परेशानी होती है, तो सहजन का उपयोग आपके लिए लाभदायक रहेगा। इसलिए आज हम आपको एक ऐसे उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसको कर आप घर पर बहुत ही सरलता से सहजन का सूप तैयार कर सकेंगे।

चलिए जानते हैं इस उपाय के बारे में !!

सहजन का सूप पीना सबसे अधिक फायदेमंद होता है। इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है। विटामिन सी के अलावा ये बीटा कैरोटीन, प्रोटीन और कई प्रकार के लवणों से भरपूर होता है. ये मैगनीज, मैग्नीशियम, पोटैशियम और फाइबर से भरपूर होते हैं. ये सभी तत्व शरीर के पूर्ण विकास के लिए बहुत जरूरी हैं।

सहजन का सूप के फायदे:-

  • डायबिटीज कंट्रोल करने के लिए भी सहजन के सेवन की सलाह दी जाती है।
  • सहजन का सूप खून की सफाई करने में भी मददगार है। खून साफ होने की वजह से चेहरे पर भी निखार आता है।
  • अस्थमा की शिकायत होने पर भी सहजन का सूप पीना लाभदायक होता है। सर्दी-खांसी और बलगम से छुटकारा पाने के लिए इसका इस्तेमाल घरेलू औषधि के रूप में किया जाता है।
  • सहजन का सूप पाचन तंत्र को भी मजबूत बनाने का काम करता है। इसमें मौजूद फाइबर्स कब्ज की समस्या नहीं होने देते हैं।
  • सहजन में एंटी-बैक्टीरियल गुण पाया जाता है। जो कई प्रकार के संक्रमण से सुरक्षित रखने में मददगार है। इसके अलावा इसमें मौजूद विटामिन सी इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने का काम करता है।
  • सहजन के सूप के नियमित सेवन से सेक्सुअल हेल्थ बेहतर होती है. सहजन महिला और पुरुष दोनों के लिए समान रूप से लाभदायक है।

बनाने की विधि:-

  • सर्व प्रथम सहजन को कई छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें।
  • दो कप पानी लेकर इसे धीमी आँच पर उबलने के लिए रख दें।
  • जब पानी उबलने लगे तो इसमें कटे हुए सहजन डाल दें। यदि आप चाहें तो इसमें सहजन की पत्तियाँ भी मिला सकते हैं।
  • पानी के आधा बच जाने पर आग बंद कर लें।
  • फिर सहजन की फलियों के बीच का गूदा निकाल लें तथा ऊपरी हिस्सा अलग कर लें।
  • इसमें थोड़ा सा नमक और काली मिर्च मिलाकर पिएं।

डॉक्टर से दवाई मंगवाने के लिए 94647 80812 नंबर पर कॉल करें।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *