जानिए कैसे छोड़ें शराब की बुरी लत आयुर्वेद से ?

get-rid-of-alcohol

आपके आसपास कईं ऐसे दोस्त या लोग होंगे, जो बुरी तरह से शराब की लत में फंसे हुए हैं। इस शर्मिंदगी तथा गंदगी भरी लत के कारण से उक्त व्यक्ति अपना जीवन तो बेकार करता ही है। परन्तु साथ ही वह अपने परिवार वालों तथा प्रियजनों जीवन भी दुखभरा कर देता है। इस गंदी लत(Get rid of alcohol) पर नियंत्रण पाने के लिए व्यक्ति अपने भीतर दृढ़ निश्चय जगाना अति आवश्यक है।

शराब अथवा मदिरा की लत को एल्कोहोलिज्म(Alcoholism) का नाम भी दिया जाता है। यह किसी प्रकार का कोई रोग नहीं है, जिसका उपचार किया जा सके। यह हमारे शरीर में इतना असर करती है कि इसकी लत को एकदम छोड़ पाना बहुत कठिन होता है। इस पर आहिस्ता-आहिस्ता ही नियंत्रण पाना चाहिए। सिर्फ व्यक्ति के मन में इससे छुटकारा पाने का दृढ़ निश्चय होना चाहिए। इसलिए आज हम आपको कुछ इस घरेलू उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनको करने से आप या अपने किसी प्रिय को शराब की बुरी को लत छुड़वाने(Get rid of alcohol) में कामयाब हो सकेंगे।

शराब से लिवर में सूजन, तंत्रिका-तंत्र तथा पेट से संबंधित रोग होते हैं। आयुर्वेद में इन सभी रोगों को ठीक करने के लिए उपचार मौजूद है। इन उपचारों में उपयुक्त दवाओं में एल्कोहल की मात्रा बहुत कम होती है। एलोविरा आपके लिवर के लिए लाभदयक है, जबकि अश्वगंधा मस्तिष्क तथा तंत्रिका-तंत्र को पुष्ट बनाता है। इसके अलावा उपचार में जटामांसी भी दिया जाता है।

चलिए जानते हैं शराब की लत से छुटकारा पाने के उपाय(Get rid of alcohol)

get rid of alcohol

1. कॉफी:-

तेज़ काफी के सेवन से शराब तथा अफीम से शरीर में फैले विष का प्रभाव नष्ट हो जाता है। जिससे शराब के सेवन की तलब नहीं लगती।

2. संतरा:-

सुबह नाश्ते करने पूर्व संतरा अथवा नारंगी का सेवन करने से भी मदिरा पान करने की इच्छा कम होती है।

3. सफेद पेठा:- 

शराब पिए व्यक्ति सफेद पेठे के रस में गुड़ मिला कर पिलाने से शराब का नशा उतर जाता है।

4. सेब:-

बार-बार सेब के रस का सेवन करने से या सही पके हुए 1-1 सेब रोज़ाना 3 बार खाने से शराब पीने की आदत दूत होती है। शराब पीते समय सेब के सेवन से शराब का नशा उतर जाता है। भोजन के साथ सेब खाने से भी शराब की आदत छूट जाती है।

यदि यह जानकारी आपको अच्छी लगी तो इसे फेसबुक पर अपने दोस्तों संग शेयर अवश्य करें।

डॉक्टर से दवाई मंगवाने के लिए 94647 80812 नंबर पर कॉल करें।