झड़ते-गिरते, सफ़ेद, छोटे बालों तथा रुसी का कैसे करें उपचार ?

आज हम आपको एक ऐसे घरेलू उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसको करने से आप बालों से जुडी हर प्रकार की समस्या से छुटकारा पा सकेंगी। इस प्रयोग को आज से 30 – 40 वर्ष पहले अधिकतर ग्रामीण औरते प्रयोग करती थीं। जिस कारण उनके बाल बुढापे तक भी काले घने लम्बे और चमकीले बने रहते थे। यह प्रयोग बच्चों तथा बड़ो दोनों के लिए है। लम्बे घने चमकीले बाल पाने की इच्छा रखने वालों के लिए यह किसी वरदान से कम नहीं।

चलिए जानते हैं इस उपाय के बारे में !!

आवश्यक सामग्री:-

  • शिकाकाई पाऊडर – 100 ग्राम
  • आंवला पाऊडर – 100 ग्राम
  • अरीठा पाऊडर – 100 ग्राम

की विधि:-

  • तीनो चीजों को बराबर वजन में लेकर अच्छी तरह मिला लें।
  • किसी कांच की बरनी में सुरक्षित संभाल कर रख लें।
  • अपने बालों के साइज के अनुसार दहीं लें। लडकियों के बालों के लिए एक कटोरी दहीं में 4 से 6 चम्मच पाऊडर तथा कटे हुए बालों के लिए 2 चम्मच काफी रहता है। पुरुषों के बालों के लिए एक चम्मच काफी है।
  • उसमें ये उपरोक्त पाऊडर अच्छी तरह मिला कर रात को रख दें।
  • सुबह उठकर इस को अच्छी तरह बालों में लगा कर 15 मिनट से एक घंटे तक, जितना देर ज्यादा रख सकें, उतना देर रखें।
  • बाद में बिना किसी साबुन या शैंपू के बालों को धुलाई करें।
  • लड़कियां  सप्ताह में तीन दिन और पुरुष हर रोज़ ऐसे बालों को धुलाई कर सकते हैं।
  • इस से बालों में कुदरती निखार आता है, बाल काले, चमकीले, घने और 40 दिन में सफ़ेद हुए बाल काले होने शुरू हो जाते हैं।
  • इससे गंज भी ठीक हो जाता है।

विशेष:-

  • सिर में अत्यधिक रूसी होना चमड़ी का रोग होना जाना जाता है।
  • इसके लिए आप इस प्रयोग के साथ में एक तो ब्लड पयुरीफायर ज़रूर पियें।
  • दूसरा सिर की त्वचा की नीम के तेल से रात्री को सोते समय मालिश ज़रूर करें।
इसके साथ में जिन लोगों के असमय बुढापा आ गया हो और सिर में पूरे सफ़ेद बाल हो गए हों, वह लोग निमिन्लिखित तेल मिला कर यह तेल सिर पर लगाएं।
  • रोगन आंवला खास – 250 ग्राम
  • रोगन खसखस – 50 ग्राम
  • रोगन गुल – 50 ग्राम
  • रोगन कद्दू – 50 ग्राम
  • रोगन काहु – 50 ग्राम
  • रोगन बादाम – 50 ग्राम

डॉक्टर से अपनी समस्या शेयर करें 9041 715 715 नंबर पर मुफ्त परामर्श करें।

Releated Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *