अस्थमा को ठीक करने का घरेलु उपाय!

कैसे करता है लहसुन हमें दमे की बीमारी से आज़ाद?

जब सांस लेने वाली नलिका में कोई इंफेक्शन या कोई अन्य परेशानी हो और इसके कारण खांसी तथा सांस लेने में परेशानी आए तो इस बीमारी को दमा या अस्थमा कहते हैं। अस्थमा या दमा एक प्रकार की एलर्जी है जिसकी वजह से सांस लेने में तकलीफ होने लगती है। इस बीमारी में रोगी को सांस फूलने और सांस ना आने के दौरे पड़ते हैं। यह बीमारी पुरुष महिला और बच्चों किसी को भी हो सकती है। सांस लेने वाली नाली हमारे फेफड़ों से हवा अंदर बाहर करती है और अस्थमा की बीमारी होने पर इन नालियों में अंदर की तरफ सूजन हो जाती है। यह सूजन सांस लेने वाली नाली को काफी संवेदनशील बना देती है। जिसकी वजह से किसी भी बेचैन कर देने वाली चीज से एलर्जी होने लग जाती है और फेफड़ों में हवा कम पहुंचती है। अस्थमा की बीमारी दो तरह की होती है एक जिसमें सांस फूलने की परेशानी किसी चीज से एलर्जी की वजह से होती है या दूसरी जिसमें अस्थमा की समस्या व्याम मौसम के प्रभाव या जैनेटिक प्रेडिस्पोसिशन की वजह से होती है। अस्थमा के मुख्य कारण फेफड़ों या आंतों में कमजोरी होना, ज़्यादा मिर्च मसाले वाली चीजें खाना, ड्रग्स या किसी और नशीली चीजों का सेवन करना, खून में किसी प्रकार का दोष होना, टेंशन गुस्सा आया किसी डर की वजह से, मिलावटी खाने और खाने-पीने की गलत आदतें होना, हवा में प्रदूषण से होने वाली एलर्जी के कारण अथवा यदि आप के परिवार में पहले से किसी को अस्थमा की बीमारी हो, तो भी यह बीमारी होने की संभावना है। इसलिए आज हम आपको एक ऐसे ही घरेलू उपाय के बारे में बताएंगे जिसको करने से आप अस्थमा की बीमारी का इलाज कर पाएंगे। अस्थमा के इलाज में लहसुन का प्रयोग काफी फायदा करता है। आपको करना बस इतना है कि 25 से 30 ml दूध में लहसुन की 4 से 5 कालिया उबाल लें और हर रोज़ इसका सेवन करें। आप अदरक की चाय में लहसुन की 2 कालिया पीस कर डालें और सुबह शाम इस चाय को पीने से भी फायदा मिलेगा।

डॉक्टर से दवाई मंगवाने के लिए 94647 80812 नंबर पर कॉल करें।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *