मोटापा, कैंसर, दाँत, सर्पदंश, हड्डियाँ मजबूत जैसे 10 रोगों का एक उपचार!!

करौंदा एक तरह के झाड से प्राप्त खट्टे स्वाद वाला फल है। विटामिन सी से लबरेज यह फल एंटीओक्सिदेंट्स का भी प्रमुख स्रोत होता है। खाने में खट्टे स्वाद वाला ये फल कई तरह के रोगों से लड़ने की भी शक्ति रखता है। जुकाम, खांसी, ब्लड प्रेशर जैसे रोगों से लड़ने की क्षमता रखने वाले फल के और भी कई ऐसे फायदे हैं जो हमारे स्वाथ्य के लिए जरुरी है।

चलिए जानते हैं करौंदे के गुणों के बारे में!!

  • जुकाम और बुखार की स्थति में करौंदे का सेवन दवा की तरह काम करता है। बुखार की स्थिति में करौंदे के जड़ में पानी मिलाकर लेप बनाएं। इस लेप को रोगी पर लगाने से बुखार जल्दी उतरता है।
  • करौंदे में मौजूद कैल्सियम दांतों और हड्डियों को मजबूत बनाता है।
  • इसके सेवन से चेहरे पर झुर्रियों का निर्माण भी कम हो जाता है या रुक जाता है।
  • करौंदे में कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है। इस वजह से करौंदा वजन कम करने में भी महतवपूर्ण भूमिका निभाता है।
  • अगर आपके दांत सड़ रहे हों या मूह से दुर्गन्ध आती हो तो आप करौंदे का सेवन करें। इसके इस्तेमाल से दांतों की सदन और मूह की दुर्गन्ध से निजात पाया जा सकता है।
  • करौंदे में स्तन कैंसर से भी लड़ने की शक्ति है। इसके नियमति सेवन से स्तन कैंसर के होने की संभावनाएं न के बराबर हो जाती हैं।
  • उच्च रक्तचाप वाले मरीजों के लिए करौंदा एक चटपटे दवा की तरह काम करता है। इसके सेवन से रक्तचाप कम हो जाता है।
  • सर्पदंश की स्थिति में करौंदे के तने को पानी में उबालकर सांप काटे रोगी को पिलायें। ऐसा करने से सांप के जहर का असर कम हो जाता है।
  • करौंदे के फल से निर्मित चूर्ण एसिडिटी और खट्टी डकार की तकलीफ को दूर करता है। इस चूर्ण को खाने से भूख भी बढती है।
  • महिलाओं को होने वाले मूत्र संक्रमण में भी करौंदा बहुत लाभकारी होता है।

डॉक्टर से दवाई मंगवाने के लिए 9041 715 715 नंबर पर कॉल करें।

Releated Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *