आप कभी नेल पोलिश नहीं लगाएँगे ये जानने के बाद !!!

नेल पॉलिश लड़कियों के सौंदर्य का मुख्य साधन है। यह नाखूनों को सुंदर दिखाने के लिए अक्सर लड़कियों द्वारा इस्तेमाल में लाया जाता है | अधिकतर लडकियाँ नाखूनों की खूबसूरती बढाने के लिए अलग अलग तरह के नेलपॉलिश का इस्तेमाल करती हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि नेल पॉलिश के दुष्प्रभाव भी होते हैं जिनसे शायद ही आप  लोग परिचित होंगे।

कैलिफोर्निया डिपार्टमेंट ऑफ टॉक्सिक सबसटेंस कंट्रोल ( डीटीएससी)के द्वारा जारी की गयी रिपोर्ट के अनुसार नेल पॉलिश में कई सारे जहरीले केमिकल्स होते हैं। जब वैज्ञानिकों द्वारा नेल पॉलिश को जांच के लिए अनुसधान शाला में भेजा गया तो उसमें फार्मेल्डिहाइड व टोल्यूनि व डीबीपी जैसे यौगिकों के होने का पता चला जिन्हें ‘टॉक्सिक ट्रायो’ के नाम से जाना जाता है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक अक्सर ब्यूटी पार्लरों में इस्तेमाल की जाने वाली नेल पॉलिश पर टॉक्सिन फ्री लिखा होता है जिसमे कि हो सकता है जहरीले केमिकल्स की मात्रा ज्यादा हो।

अक्सर जब आप नेलपॉलिश खरीदा करती हैं तो आपका ध्यान उसके रंग पर जाता है नाकि उसमें इस्तेमाल किए गए केमिकल्स पर |वैज्ञानिक टेस्टों में सामने आ चुका है कि नेलपॉलिश की लगाने के कई घंटों के बाद आपके नाखून या शरीर में कहीं भी नुकसान हो सकता है।
एक शोध में कई चौंकाने वाले नकारत्मक तथ्य सामने आये हैं जो कि ऐसी महिलाओं पर किये गए हैं जो नियमित रूप से नेलपॉलिश का इस्तेमाल करती हैं | 
1. इसमें ट्रिफेन्यल फॉस्फेट पाया गया है : जो महिलायें नेलपॉलिश का नियमित इस्तेमाल करती हैं उनमें  ट्रिफेन्यल फॉस्फेट जैसा जहरीला पदार्थ पाया जाता है । और जबकि नेलपॉलिश के पर इसका कहीं कोई विवरण नहीं होता।
2. दिमाग पर डालती है गलत असर  : सबसे बड़ा खतरा जो इससे उत्पन्न होता है वो है जब ये मानव शरीर में प्रवेश करके ह्यूमन सिस्टम में गंभीर बदलाव ला देती  है। खास्तौर पर यह नर्वस सिस्टमऔर दिमाग में बदलाव पैदा करता है। यह पेट के पाचन और हॉर्मोन सिस्टम में भी नकारत्मक प्रभाव डालती  है।
3. रीढ़ की हड्डी को नुकसान पहुचाती है : इसमें ऐसे  न्यूरो-टॉक्सिन होते हैं जो इतने जहरीले पदार्थ होते हैं जो सीधा दिमाग पर प्रभाव डालते हैं। इसके साथ ही यह रीढ की हड्डी पर भी असर डालती है।  नेलपॉलिश में मौजूद यह अन्य जहरीला तत्व नर्वस सिस्टम को प्रभावित करता  है।
4. कैंसर का खतरा बढ़ा देती है :  इसमें कैंसर पैदा करने वाला फॉर्मेलडेय्डे नामक एक तत्व है जो कार्सिनोजेनिक होता है। इसकी मौजूदगी से शरीर में कैंसर सेल्स बनते हैं।
5. नेलपॉलिश से शिशु प्रभावित होता है : इसमें में टोल्यून नामक तत्व होता है जो सीधा मां के दूध में  घुस जाता है। दूध पिलाने  वाली महिलाओं से यह बच्चे में जाता है।

6.गुर्दे से संबंधित समस्याएं : नेल पॉलिश में फार्मल डीडीहाइटेरिसन प्रयोग होता है  जो वास्तव में एक प्रकार का अत्यंत घातक एसिड हैं।इससे  दमा से संबंधित समस्याएं भी उत्पन्न हो जाती हैं |

नेल पॉलिश से होने वाले नुकसान जानिये

  • नेल पॉलिश में मिलने वाले इन केमिकल्स से गर्भवती महिलाओं के शिशु में जन्म विकृतियां, विकास की समस्या जैसी समस्याएं सामने आती हैं।
  • इससे दमा व गुर्दे से संबंधित समस्याएं भी उत्पन्न होने कीआशंका बढ़ जाती है |
  • नेल पॉलिश में इस्तेमाल होने वाला  अत्यंत घातक एसिड फार्मल डीडीहाइटेरिसन जो आपको बहुत बड़ा नुक्सान पंहुचा सकता है |
  • नेल पॉलिश में  स्पिरट का प्रयोग किया जाता है जो फेफड़ों को नुक्सान पहुचता है |

 

डॉक्टर से दवाई मंगवाने के लिए 9041 715 715 नंबर पर कॉल करें।

Releated Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *