याददाश्त बढाने के लिए आठ घंटे की नींद जरूरी

याददाश्त बढाने के लिए आठ घंटे की नींद जरूरी

याददाश्त बढाने के लिए आठ घंटे की नींद जरूरीजो लोग नई चीजों को याद करने के बाद आठ घंटे की पर्याप्त नींद लेते हैं वे उन चीजों को उनके नामों सहित ज्यादा देर तक याद रख पाते हैं।

याददाश्त बढाने के लिए आठ घंटे की नींद जरूरीजो लोग नई चीजों को याद करने के बाद आठ घंटे की पर्याप्त नींद लेते हैं वे उन चीजों को उनके नामों सहित ज्यादा देर तक याद रख पाते हैं।

इसके साथ ही उनकी याददाश्त भी अच्छी रहती है। ये खुलासा हाल ही मे हुए एक शोध में सामने आर्इ है। शोध में बताया गया है कि छोटी छोटी झपकियां याददाश्त को बढ़ाने में मददगार होती हैं।ब्रिघम एंड वुमेन्स हॉस्पिटल के न्यूरो साइंटिस्ट जैन एफ डफी के अनुसारए प्रतिभागियों के पर्याप्त नींद लेने के बाद हमने पाया कि उनमें चेहरों को नाम से पहचानने की क्षमता में वृद्धि हुई है। इसके साथ ही उनके जवाबों में ज्यादा आत्मविश्वास भी दिखाई पड़ा।शोध के दौरान प्रतिभागियों का बीडब्लूएच परीक्षण अस्पताल के नियंत्रित वातावरण में कराया गया।इस परीक्षण के तहत प्रतिभागियों को वयस्कों के चेहरे वाले 600 रंगीन चित्र दिखाए गए जिनमें से 20 चेहरों को उनके नाम के साथ याद करने को कहा गया। 12 घंटे बाद उन चित्रों को सही और गलत नामों के साथ दोबारा दिखाया गया।इसके बाद प्रतिभागियों को आठ घंटों तक सोने दिया गया। वैज्ञानिकों ने पाया कि उन प्रतिभागियों ने चेहरों और नामों का मिलान 12 प्रतिशत तक सही ढंग से किया।इस शोध से पता चला कि नई चीजों को याद करने के बाद पर्याप्त नींद लेने से याददाश्त में काफी सुधार आता है।डफी के अनुसार नई जानकारी को याद करने के लिए पर्याप्त नींद बहुत अहम है व्यस्तताओं के कारण अक्सर लोग सही ढंग से सो नहीं पाते हैं जिस वजह से उन्हें याददाश्त संबंधी कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस अध्ययन से हमें उम्र के अनुसार लोगों की नींद संबंधी विकारों को दूर करने में मदद मिलेगी।

डॉक्टर से दवाई मंगवाने के लिए 94647 80812 नंबर पर कॉल करें।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *