अंगुलियों में कंपन की समस्या का कैसे करें उपचार ?


Ads

हाथों-पैरों की अंगुलियों के कांपने की समस्या को अंगुलियों का कंपवात कहा जाता है। इस परेशानी में रोगी के ना चाहने के बावजूद भी उसकी उँगलियाँ कांपती रहती हैं। इस परेशानी के कारण हाथ से गिलास, चम्मच ईत्यादि कोई भी वस्तु रोगी नहीं पकड़ पाता है। चलते फिरते समय भी उँगलियाँ कांपती रहती हैं। हाथ-पैरों की उँगलियाँ का हिलना, बच्चों में दस्त, स्त्रियों में गर्भावस्था(प्रसूतावस्था) के दौरान, ठंड लगने से अथवा किसी कारणवश चुल्लिका ग्रंथि को निकाल देने से होता है। इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे घरेलू व आयुर्वेदिक उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनको करने से आप उंगलिओं के कांपने की समस्या से सरलतापूर्वक छुटकारा पा सकेंगे।

चलिए जानते हैं इन उपायों के बारे में !!

1. बड़ी हरड़:-

  • हाथ-पैरों की अंगुलियों का कंपन दूर करने के लिए बड़ी हरड़ का चूर्ण खाने से रोगी का रोग ठीक हो जाता है।

2. भांगरा:-

  • लगभग 20 ग्राम भांगरे के बीजों के चूर्ण में 3 ग्राम घी मिला लें।
  • इसे मीठे दूध के साथ खाने से हाथ-पैरों का कांपना दूर हो जाता है।

3. गोरखमुण्डी:-

  • हाथ-पैरों की अंगुलियों का कांपना दूर करने के लिए गोरखमुण्डी और लौंग का चूर्ण खाने से रोगी को फायदा मिलता है।
READ  अब खाएं चॉकलेट बिना किसी डर के .....चॉकलेट खाना नहीं है बुरी बात

4. आशाकन्द:-

  • लगभग 2 ग्राम आशाकन्द का चूर्ण दूध के साथ लेने से हाथ-पैरों की अंगुलियों का कंपन ठीक हो जाता है।

5. तिल:-

  • तिल के तेल में अफीम और आक के पत्ते मिलाकर गरम करके लेप करने से हाथ-पैरों की अंगुलियों की कंपन दूर हो जाती है।

6. असगंधनागौरी:

  • लगभग 3 से 6 ग्राम असगंध नागौरी को गाय के घी और उसका चार गुना दूध में उबाललें।
  • अब इसमें मिश्री मिलाकर प्रतिदिन पीने से अंगुलियों का कांपना दूर हो जाता हैं।
  • इससे रोगी को काफी लाभ मिलता है।

7. कुचला:-

  • लगभग 1 ग्राम का चौथा भाग शुद्ध कुचले का चूर्ण सुबह-शाम सेवन करने से शरीर का कांपना दूर हो जाता है।
  • रोगी को काफी राहत महसूस होती है।

8. जटामांसी:-

  • लगभग 1 ग्राम का चौथा भाग से लगभग 1/2 ग्राम जटामांसी को फेंटकर प्रतिदिन दो से तीन बार सेवन करने से लाभ मिलता है।

9. गाय का घी:-

  • गाय का घी और गाय का चार गुना दूध लेकर उबाल लें।
  • फिर उसमें मिश्री मिला लें।
  • इसे 3 से 6 ग्राम असगन्ध नागौरी के चूर्ण के साथ सुबह-शाम पीने से अंगुलियों का कांपना दूर हो जाता है।

10. दूध:-

  • चार कली लहसुन को दूध में अच्छी तरह से उबाल लें।
  • फिर इसमें 2 चम्मच एरण्ड का तेल मिला लें।
  • प्रतिदिन सोने से पूर्व इस मिश्रण सेवन करने से अंगुलियों का कंपन कम हो जाता है।
READ  दूध पीते बच्चों में अस्थमा का कैसे करें घरेलु उपचार ?

11. सोंठ:-

  • महारास्नादि में सोंठ का चूर्ण मिलाकर सुबह-शाम पीएं।
  • साथ ही प्रतिदिन रात को 2 चम्मच अरण्डी का तेल को दूध में मिलाकर सोने से पूर्व सेवन करें।
  • इससे अंगुलियों के कांपना की शिकायत दूर हो जाती है।

12. महानिम्बू:-

  • लगभग 10 से 20 मिलीलीटर महानीम्बू(चकोतरा) के पत्तों का रस सुबह-शाम सेवन करते रहने से अंगुलियों का कांपना ठीक हो जाता हैं।

13. लहसुन:-

  • लहसुन के रस में वायविडंग को पकाकर खाने से एवं लहसुन से प्राप्त तेल की मालिश करने से अंगुलियों का कंपन ठीक हो जाता है।

यदि यह जानकारी आपको अच्छी लगी तो इसे फेसबुक पर अपने दोस्तों संग शेयर अवश्य करें।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *