सेब खाने के लाभ तथा इससे संबंधित सावधानियाँ !!

सेब का फल बहुत स्वादिष्ट और पौष्टिक होता है। यह पूरे साल उपलब्ध रहता है और सभी के द्वारा बहुत चाव से खाया जाता है। इसके ताज़े फल, जैम, जेली सभी कुछ बनाये जाते हैं। इसका सेवन सेहत के लिए बहुत लाभप्रद है। अंग्रेजी में एक कहावत है, ‘ एन एप्पल ए डे कीप्स डॉक्टर अवे’, जो की सेब के स्वास्थ्यप्रद गुणों के कारण ही बनी है। कहते भी हैं, सेब खाने से गाल सेब जैसे लाल होते हैं। सेब खनिज, लवण और और विटामिनों का समृद्ध स्रोत है इसलिए इसके सेवन से शरीर की कमजोरी, खून की कमी, थकावट और दिमागी कमजोरी दूर होती है।

यह भूलने की बिमारी और हमेशा रहने वाले सर्द को ठीक करता है। इसमें फाइबर होता है जो कब्ज़ को दूर रखता है। सेब में पेक्टिन होने से यह लूज़ मोशन में भी फायदा करता है। सेब मैलिक एसिड का भी अच्छा स्रोत है। मैलिक एसिड एक कार्बनिक यौगिक है व सभी जीवों में पाया जाता है। सेब के सेवन से यूरिक एसिड की अधिकता से होने वाले रोग जैसे की गाउट, आर्थराइटिस, किडनी की पथरी आदि के होने के खतरे कम होते हैं। इसलिए आज हम आपको सेब खाने के लाभ तथा कुछ सावधानियों के बारे में बताने जा रहे हैं।

चलिए जानते हैं इनके बारे में !!

स्वास्थ्य लाभ:-

  1. सेब वात और पित्त शामक है। यह पुष्टिकारक, कफकारक, भारी, और रूचि कारकहै। तासीर में यह ठंडा है और शरीर को शीतलता देता है। सेब को खाने के अनगिनत फायदे हैं और इनमें से कुछ नीचे दिए गए हैं:
  2. यह बहुत पौष्टिक, एंटीऐजिंग, और एंटीऑक्सीडेंट होता है।
  3. यह किसी को बहुत समय से सिर का दर्द होता है तो उसे नियमित रूप से सुबह सेब काट कर उस पर नमक लगाकर खाना चाहिए।
  4. सेब का नियमित सेवन दिल, दिमाग और रक्त के लिए लाभदायक है।
  5. सेब को खाने से शरीर को अधिक एनर्जी और टिशूज को ज्यादा ऑक्सीजन मिलती है।
  6. यह दिमाग की कमजोरी को दूर करता है।
  7. यह फाइबर से भरपूर होता है और कब्ज़ को दूर करता है।
  8. इसमें पेक्टिन होता है जिस कारण यह पेचिश में भी लाभ करता है।
  9. पेक्टिन कोलेस्ट्रोल, ट्राईग्लीसराइड्स, रक्त में शर्करा के स्तर, को कम करने में भी सहायक है।
  10. यह पाचन को बेहतर बनाता है।
  11. सेब को चबा कर खाने से लार बनती है और मुंह में बैक्टीरिया कम पनपते हैं जिससे कैविटी होने का खतरा कम होता है।
  12. इसके सेवन से डायबिटीज होने का खतरा कम होता है।
  13. यह शरीर में यूरिक एसिड को मात्रा को कम करता है।
  14. इसके सेवन से यूरिक एसिड से बनने वाले किडनी स्टोन बनने का खतरा कम होता है।
  15. इसके सेवन से अवसाद कम होता है।
  16. यह खून की कमी को दूर करता है।

सावधानियाँ:-

  1. सेब को हर कोई खा सकता है। लेकिन कुछ लोगों को इसके सेवन से बहुत गैस बनती है। ऐसे में शुरू में इसकी कम मात्रा लें फिर बाद में मात्रा बढ़ा सकते हैं।
  2. डायबिटीज में थोड़े हरे और छोटे सेब खाए जा सकते हैं जो अधिक मीठे न हों। डायबिटीज में बहुत अधिक पके, मीठे और बड़े सेब नहीं खाने चाहिए।
  3. इसे शाम को या रात को न खाएं। ऐसा करने के कई कारण हैं जैसे की इसमें पेक्टिन होता है और यह पचने में भारी है। शाम को खाने से यह कफ अधिक बनाएगा। इसे खाने का सही समय सुबह है। अगर गैस बनती हो तो खाने के एक घंटे बाद खाएं।
  4. सेब के बीजों को नही खाना चाहिए। यह खाने योग्य नहीं होते।
  5. अत्याधिक सेब न खाएं।
  6. बहुत चमकदार सेब न खरीदें। खाने से पहले सेब बहुत अच्छे से धो लें।

डॉक्टर से दवाई मंगवाने के लिए 94647 80812 नंबर पर कॉल करें।