किडनी में बढ़ा हुआ यूरिया और क्रिटनिन कम कैसे करें ?

हमारे शरीर में किडनी एक बहुत अधिक आवश्यक भाग है। परन्तु जाने-अनजाने हमारी बुरी आदतें हमारी किडनी को हानि पहुँचा रही हैं। इन आदतों को समय रहते सुधारा जाना चाहिए, अन्यथा हमारी इन आदतों की गलती की भरपाई हो सकता है हमें अपनी जान देकर करनी पड़े। अथवा हमें जीवन भर के लिए महंगे तथा भरी-भरकम उपचार करवाने के लिए बाध्य होना पड़ सकता है। हमारी ज्यादा नमक खाना अथवा कम पानी पीना ईत्यादि जैसी आदतें हमारी किडनी को हानि पहुंचती हैं। किडनी हमारे शरीर में एसिड का संतुलन बनाए रखने, टॉक्सिन्स निकालना, यूरीन बनाना, मिनरल का अवशोषण, हार्मोन बनाना और खून साफ करना जैसे सभी आवश्यक कार्य करती है। इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे घरेलू उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनको करने से आप किडनी की परेशानियों से छुटकारा पा सकेंगे और वह भी घर पर सरलता से।

चलिए जानते हैं इस उपाय के बारे में !!

किडनी के कोशों की फिर से बनाए:-

  • पूनर्नवा जिसको सटोडी की सब्जी भी बोलते हे ये तो अद्भुत चमत्कारी है।
  • इसके सेवन मात्र से मरे हुए किडनी के कोशों की फिर से नव जीवन प्रदान करती है इसलिए इस का नाम पुनर्नवा है।
  • इसको सब्जी बना कर या फिर इसकी पट्टियाँ सूखा कर पाउडर बनाकर किसी भी सब्जी मे मिलने से सब्जी का स्वाद भी लज्जत दार स्वादिष्ट बन जाता है।
  • इसकी वटी भी उपलब्ध है लगभग 20-25 रूपए मे मिल जाएगी, किसी भी आयुर्वेदिक स्टोर पर।

किडनी की किसी भी समस्या का समाधान:-

  • 50 ग्राम मककई (भुट्टे के बाल फ़ोटो में देखे) के ऊपर के बाल ले लें (जो मककई को धक दिया करते हे वो बाल) और 2 लीटर पानी मे उबाल दें हल्के आग पे।
  • जब पानी एक लीटर शेष रह जाए वो पानी पूरे दिन मे थोड़े थोड़े अंतराल मे पी लें।
  • आपकी किडनी की किसी भी समस्या का समाधान हो जाएगा।
  • सूझ हो या बीमारी सब ठीक होना ही है।

क्रिटनिन और यूरिया वृद्धि, गुर्दे या किडनी फेल:-

  • नीम और पीपल की छाल को बराबर मात्रा में पीसकर अलग-अलग रख लें।
  • दोनों में से 1-1 चम्मच मात्रा लेकर 400 मिलीलीटर पानी में उबाल लें।
  • उबालने पर 100 मिलीलीटर पानी बाकी रहने पर इस पानी को छानकर सुबह-शाम भूखे पेट रोजाना पीने से यूरिया व क्रिटनिन में होने वाली वृद्धि कम हो जाती है।

डॉक्टर से दवाई मंगवाने के लिए 94647 80812 नंबर पर कॉल करें।