अस्थमा का कैसे करें घरेलू उपचार ?

अस्थमा कहे या हिन्दी में दमा ये श्वसन तंत्र की बीमारी है जिसके कारण सांस लेना मुश्किल हो जाता है। क्योंकि श्वसन मार्ग में सूजन आ जाने के कारण वह संकुचित हो जाती है। इस कारण छोटी-छोटी सांस लेनी पड़ती है, छाती मे कसाव जैसा महसूस होता है, सांस फूलने लगती है और बार-बार खांसी आती है। इस बीमारी के होने का विशेष उम्र बंधन नहीं होता है। किसी भी उम्र में कभी भी ये बीमारी हो सकती है।

दमा की बीमारी को दो भागो किया जा सकता है- विशिष्ट और गैर विशिष्ट। विशिष्ट प्रकार के दमा के रोग में सांस में समस्या एलर्जी के कारण होता है जबकि गैर विशिष्ट में एक्सरसाइज़, मौसम के प्रभाव या आनुवांशिक प्रवृत्ति के कारण होता है। आम तौर पर अगर परिवार में आनुवांशिकता के तौर पर अस्थमा की बीमारी है तो इसके होने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए आज हम आपको एक ऐसे घरेलू उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके उपयोग से आप अस्थमा के रोग के लक्षणों को कम कर इस रोग का उपचार किया जा सकता है।

चलिए जानते हैं इस उपाय के बारे में!!

 

आवश्यक सामग्री:-

  • खीरा – 1
  • पके हुए लेमनग्रास – 3
  • नीम्बू – ½ (आधा)

बनाने की विधि:-

  • नीम्बू का रस निकाल लें और बाकी की सामग्री के साथ ब्लेंडर में डालकर मिक्स करें।
  • जब जूस बन कर तयार हो जाए तो इसे छान लें।

सेवन की विधि:-

  • इस जूस को दिन में तीन बार खाने से पूर्व सेवन करें।
  • इसके सेवन से आपको शीघ्र ही लाभ होगा।

डॉक्टर से दवाई मंगवाने के लिए 94647 80812 नंबर पर कॉल करें।